28 जुलाई 2015

“नीला आसमान सो गया…….!!ऐसा शून्य जिसकी भरपाई कभी नही हो पाएगा। कलाम नहीं रहे।” लोकेश नारायण शंकर, प्रथम वर्ष, आई. टी. का एक दुखद दिन का संस्मरण।

Advertisements

चित्र : आर. के. लक्ष्मण


 

२८ जुलाई २०१५

कोटा, राजस्थान!

मुझे बचपन से समाचार पत्र पढ़ने की आदत है। कोटा जैसी प्रतिस्पर्धी जगह पर रहकर समाचार पत्र पढ़ रहें हैं तो शायद आप अपना समय व्यर्थ कर रहे हैं, क्योंकि वहाँ का माहौल कुछ इस प्रकार है कि आप अपना संपूर्ण समय जे.ई.ई/नीट परीक्षा उत्तीर्ण करने में झोंक देते हैं। फिर भी मैं समाचार पत्र के लिए तो समय निकाल ही लेता था।

मैं अपनी दैनिक दिनचर्या का पालन करते हुए उस दिन भी ११ बजे नाश्ता करने निकला, जहाँ मैं अखबार पढ़ा करता था।

अब तक सब कुछ सामान्य था, मेस वाले भैया को राधे-राधे कहा, उन्होंने हर रोज की भांति आज भी समाचार पत्र मेरे हाथों सुपुर्द किया। अखबार हाथों में लेते ही मानो बदन से बिजली कौंध गयी हो| अभी तक जो दिन सामान्य गुज़र रहा था, एक क्षण के भीतर ही सामान्यता की परिभाषाओं को झुठलाने लगा था| प्रथम पृष्ठ का शीर्षक मेरे लिए हृदय विदारक था-

नीला आसमान सो गया…….!!ऐसा शून्य जिसकी भरपाई कभी नहीं हो पाएगा। कलाम नहीं रहे।

अब तक मैं इनसे मिलने के सपने देखा करता था और ये तो कल ही मेरे जैसे अनगिनत सपने देखने वालों को बिना बताये चले गए| ‘ये आपने सही नहीं किया, अभी तो हमारा मिलना बाकी था’ बस यही निकला मुख से और उनके सम्मान में आँखों ने अश्रु छलका दिए। प्रथम पृष्ठ देखते एवं सोचते में ११:३० हो गया, तभी मेस वाले भैया ने आवाज़ लगाई….अरे भाई पढ़ भी रहे हो? तब से एक ही पृष्ठ देखे जा रहे हो।

जवाब में सिर्फ इतना ही निकला, “अब हो गया भैया मैं चलता हूँ|”

“अरे ऐसे कैसे खाना तो खा के जा,” उन्होंने कहा।

“आज इच्छा नहीं हो रही कुछ खाने की”, कह कर वहाँ से वापिस आ गया मैं|

Author: Vishesh Kashyap

Student of all I survey

One thought on “28 जुलाई 2015”

  1. बहुत मार्मिक विवरण और शानदार प्रस्तुति।
    शुभकामनाये,भर झोली।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s